Rajkot Monsoon News गोंडल के रातानाला में स्कूल बस फंसी, विद्यार्थियों का बचाव

राजकोट. राजकोट जिले के गोंडल में तीन इंच बारिश के बाद काशी विश्वनाथ रोड पर स्थित रातानाला में जल-जमाव हो गया। इसी दौरान विद्यार्थियों से भरी स्कूल के बस चालक ने बस ले जाने की कोशिश की। इस कारण बस फंस गई। बस में बैठे विद्यार्थियों की जान खतरे में देख सेनिटेशन स्टाफ ने जद्दोजहद कर बस को पानी से बाहर निकाला और विद्यार्थियों की जान में जान आई। घटना को लेकर रातानाला के पास से एकत्रित हुए लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया। बारिश से रातानाला, उमवाडा आशापुरा अंडरब्रिज में जगह-जगह पानी भर गया। अंडरब्रिज में पानी भरने से वाहनों की आवाजाही प्रभावित हो गई। आवाजाही ठप हुई गोंडल क्षेत्र में भारी बारिश के कारण जल-जमाव होने से रणछोड़ नगर, सहजानंद नगर, पंचवटी समेत राम सार्वजनिक अस्पताल की ओर वाहनों की आवाजाही ठप हो गई। इसके बाद नगर पालिका के प्रमुख के प्रतिनिधि प्रवीण रैयाणी, कारोबारी अध्यक्ष ओमदेव जाडेजा और सेनिटेशन अध्यक्ष अनिल माधड स्टाफ के साथ पानी निकासी की व्यवस्था में जुट गए। जूनागढ़ में बादलों का डेरा, गिरनार रोप-वे बंद राजकोट. जूनागढ़ में बादलों ने आसमान में डेरा जमाते हुए खूब बौछार की। गिरनार में बारिश के साथ तेज हवा के बीच रोप-वे बंद कर दिया गया। सुबह 6 बजे से दिन के 12 बजे तक 15 मिलीमीटर (मिमी), मेंदरडा में 13 मिमी और विसावदर में 23 मिमी बारिश होने से किसानों में खुशी छा गई है। माणावदर में 4 घंटे में चार इंच बरसात हुई। वंथली में 3 इंच और मालिया हाटीना में 2 इंच पानी गिरा। अमरेली जिले के बगसरा, धारी, गिर सोमनाथ जिले के उना, प्रभास पाटण स्थित प्रथम ज्योतिर्लिंग सोमनाथ महादेव मंदिर, कोडीनार, गिर गढडा, तालाला, वेरावल, सूत्रापाडा, पोरबंदर जिले के कुतियाणा, राजकोट जिले के जामकंडोरणा में तेज बारिश हुई। मॉनसून की पहली बारिश से किसानों में खुशी छाई राजकोट में भी शनिवार दोपहर बाद आसमान में बादल छाए रहे। लगातार धीमी बारिश होती रही। जूनागढ़ जिले के माणावदर में सुबह से बारिश का माहौल बना रहा। इसके बाद कहीं हल्की और कुछ जगहों पर तेज बारिश दर्ज की गई। कालाडीबांग में भी बादलों ने आसमान को घेरे रखा। मानसून में बारिश की अच्छी शुरुआत से किसानों में खुशी व्याप्त हो गई।

पत्रिका 3 Jul 2022 12:44 pm

Rajkot Monsoon News भारी बारिश से फोफल नदी उफान पर, कॉज-वे में कार फंसी, 7 श्रमिकों का बचाव

राजकोट. राजकोट जिले के लोधिका क्षेत्र में मूसलाधार बारिश के चलते फोफल नदी में उफान आ गया। इसी दौरान नदी के कॉज-वे में कार फंस गई। इसमें 7 श्रमिक सवार थे। ग्रामीणों ने कार में फंसे सभी श्रमिकों का बचाव कर उन्हें बाहर निकाला। जानकारी के मुताबिक लोधिका में 4 इंच बारिश होने पर फोफल नदी कॉज-वे के ऊपर से बहने लगी। इसी दौरान यहां से श्रमिकों से भरी एक कार जा रही थी, जो पानी के बहाव में बहने लगी। कार में 7 श्रमिक सवार थे, जो बिजली के पोल से जुड़े काम कर घर लौट रहे थे। श्रमिक अपनी जान बचाने के लिए कार की छत पर जा बैठै। इसी दौरान लोधिका भाजपा मालधारी सेल के प्रमुख भूपत सिसोडिया को श्रमिकों के फंसे होने की खबर मिली। उन्होंने इसकी जानकारी सरपंच किशोर वसोया, उप रपंच दिलीप मकवाणा, पंचायत सदस्य श्याम शियाल समेत अन्य लोगों को जानकारी दी। सभी मौके पर पहुंच गए। गांव के तैराक करण गमारा, जीतू खाणिया, हेमंत साम सिसोदिया, दिनेश गमारा, शिवा सिसोदिया, इकबाल सुमरा, सलीम सुमरा आदि ने जान जोखिम में डालकर रस्सी के सहारे सभी श्रमिकों को बाहर निकाला। कार को रस्सी के सहारे पेड़ से बांधा गया। बाद में पानी के तेज बहाव से कार को खींच कर बाहर निकाला गया। सातों श्रमिकों के नदी के किनारे तक सुरक्षित आने से सभी ने राहत की सांस ली। राजकोट : 273 बिजली के खंभे गिरे, 105 फीडर बंद: युद्धस्तर पर काम कर रातोंरात बिजली आपूर्ति सुचारू जिले समेत समग्र सौराष्ट्र में मूसलाधार बारिश से 54 से अधिक गांवों की बिजली आपूर्ति ठप हो गई। बिजली आपूर्ति के 211 फीडर बंद हो गए। बिजली आपूर्ति बाधित होने से जन-जीवन पर व्यापक असर हुआ। जूनागढ़ जिले के आणंदपुर गांव का डैम व शहर का दामोदर कुंड ओवरफ्लो हो गया। आषाढी दूज के मुहूर्त पर समग्र सौराष्ट्र में शुरू हुई तेज बारिश के कारण जन-जीवन पर व्यापक असर हुआ। बारिश के साथ तेज हवा ने बिजली के खंभे उखड़ गए। तेज हवा के बाद बिजली चली जाने से समग्र क्षेत्र में अंधेरा फैल गया। राजकोट ग्रामीण क्षेत्र के 45 खेती फीडर बंद हो गए। इन जगहों पर खंभे पोल क्षतिग्रस्त हो गए। इसके अलावा पोरबंदर में 8 खेती फीडर, 3 बिजली खंभे, जूनागढ़ में 33 फीडर और 11 बिजली खंभे, जामनगर में 9 फीडर और 19 बिजली के खंभे, भावनगर के 10 फीडर और 85 बिजली के खंभे, बोटाद में 2 बिजली खंभे और सुरेन्द्रनगर के 36 बिजली खंभों को नुकसान हुआ। इस तरह कुल 273 बिजली खंभों को नुकसान हुआ। विभागीय कर्मचारियों की तत्परता से शनिवार सुबह तक 71 खंभे बदल दिए गए। बताया गया कि खंभे के आसपास जमीन गीली होने से खंभे गिर गए।

पत्रिका 3 Jul 2022 12:27 pm

CORONA : गुजरात में 24 घंटे में 632 मरीज, एक की मौत

अहमदाबाद. Gujarat प्रदेश में एक बार फिर Corona कोरोना का प्रकोप बढऩे लगा है। शुक्रवार को पूरे हुए 24 घंटे में ही 632 New Patient नए मरीजों की पुष्टि हुई है। यह संख्या गत 17 फरवरी को दर्ज हुए 870 मरीजों के बाद सबसे अधिक है। नए मरीजों में Ahmedaba अहमदाबाद के सबसे अधिक हैं। कोरोना के कारण Valsad वलसाड जिले में एक Patient मरीज की मौत होने की भी खबर है। राज्य में कोरोना के नए मामलों में सबसे अधिक 262 Ahmedaba अहमदाबाद जिले (शहर के 258) हैं। इसके अलावा Surat सूरत जिले में 103 में से शहर के 85 हैं। Vadodara वडोदरा जिले में 46 में से 42, Gandhinagar गांधीनगर जिले में 43 में से 32 तथा Rajkot राजकोट जिले में 21 में से 14 शहर के हैं। जबकि व valsad लसाड जिले में 33, Mehasana मेहसाणा जिले में 30, Navsari नवसारी जिले में 18, कच्छ में 14, पाटण जिले में 11, भावनगर में 10, देवभूमि द्वारका में सात, साबरकांठा में छह, भरुच में पांच, आणंद, मोरबी एंव जामनगर में चार-चार, अमरेली, खेड़ा, सुरेन्द्रनगर जिलं में दो-दो, बनासकांठा, दाहोद, गिरसोमनाथ, पंचमहाल एवं तापी में एक-एक मरीज की पुष्टि हुई है। जबकि आठ जिलों में शुक्रवार को एक भी मरीज सामने नहीं आया है। राज्य में कोरोना के कुल मामले 1232662 हो गए हैं। वलसाड में एक मरीज की मौत के साथ अबतक कोरोना से जान गंवाने वालों की संख्या 10947 हो गई है। एक्टिव केस 3200 के पार Active Cases 3289 कुछ दिनों से कोरोना का प्रकोप बढऩे के कारण शुक्रवार तक एक्टिव केस की संख्या 3289 हो गई है। इनमें से छह वेंटिलेटर पर हैं तथा अन्य की हालत स्थिर बताई गई है। अब रिकवरी रेट कम होकर 98.58 फीसदी रह गई है।

पत्रिका 1 Jul 2022 11:13 pm

गुजरात और राजस्थान की ट्रेनें निरस्त, महाराष्ट्र के लिए कल से शुरू होगी ट्रेन

इटारसी। मध्यप्रदेश से गुजरात (gujrat) और राजस्थान (rajasthan) की ओर जाने वाली ट्रेनों को निरस्त कर दिया गया है। रेलवे ने जबलपुर से राजकोट (rajkot) जाने वाली ट्रेन को निरस्त कर दिया है, जबकि महाराष्ट्र (maharashtra) के चांदाफोर्ट जाने वाली ट्रेन को फिर से शुरू करने को कहा है। यात्रियों को यात्रा से पहले रेलवे से पूछताछ जरूर कर लेना चाहिए। राजकोट मंडल में 28 से 04 जुलाई तक और नागपुर मण्डल के राजनादगांव-कालमना रेल खंड पर तीसरी रेल लाइन के लिए मुंडिकोटा स्टेशन पर नॉन इंटरलॉकिंग का कार्य होना है। इस कारण नॉन इंटरलॉकिंग कार्य की अवधि में इस मार्ग से होकर गुजरने वाली ट्रेनों को निरस्त किया गया है। रीवा से चलकर जबलपुर, इटारसी होते हुए राजकोट जाने और वहां से आने वाली साप्ताहिक ट्रेन तीन और चार जुलाई को रद्द रहेगी। जबलपुर के वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक विश्व रंजन ने बताया कि गुजरात के सुरेन्द्र नगर व राजकोट स्टेशन के मध्य रेल लाइन के दोहरीकरण का कार्य चल रहा है। इसके चलते रेल ने कई गाडिय़ों को रद्द करने का निर्णय लिया है। राजकोट- रीवा ट्रेन भी 3 जुलाई को राजकोट से रीवा के लिए नहीं चलेगी। इस वजह से रीवा से राजकोट जाने वाली ट्रेन 22938 भी 4 जुलाई को राजकोट के लिए नहीं चलेगी। यह ट्रेन रीवा से जबलपुर, इटारसी, भुसवाल, जलगांव, मार्ग से सूरत, अहमदाबाद होकर 1598 किलो मीटर का सफर करके राजकोट तक चलती है। इस दिन सफर करने वाले यात्रियों को आरक्षण रद्द कर उन्हें रिफंड देने की प्रक्रिया रेलवे ने शुरू कर दी है। फिर से पटरियों पर दौड़ेगी जबलपुर-चांदाफोर्ट ट्रेन जबलपुर-चांदाफोर्ट ट्रेन फिर से पटरियों पर दौड़ेगी। 30 जून से इस ट्रेन का परिचालन शुरू होगा। रेलवे विभाग ने जबलपुर-चांदाफोर्ट ट्रेन के परिचालन के लिए एक बार फिर से स्वीकृति प्रदान की है। इस ट्रेन के शुरू होने से जिलेवासियों को रेल सुविधा का लाभ मिलने लगेगा। यह ट्रेन सप्ताह में केवल तीन दिन ही चलेगी। जानकारी के अनुसार यह ट्रेन जबलपुर से सुबह 3.45 बजे छूटेगी, जो 9.35 बजे बालाघाट पहुंचेंगे। इसके बाद यह ट्रेन गोंदिया और वहां से चांदाफोर्ट के लिए रवाना होगी। इसी तरह यह ट्रेन चांदाफोर्ट से 2.50 बजे रवाना होगी, जो शाम 7 बजे बालाघाट पहुंचेंगी। इसके बाद यह ट्रेन अगले गंतव्य के लिए रवाना होगी। यह ट्रेन सप्ताह में मंगलवार, गुरुवार और शुक्रवार को चलेगी।

पत्रिका 29 Jun 2022 5:28 pm

नींबू का दबदबा, दोस्तों ने शादी में दिया गिफ्ट

आज के समय में महंगाई आसामान छू रही है और इन सभी के बीच, नींबू (Lemon) की बढ़ती कीमतें आम आदमी के स्वाद को 'खट्टा' कर रही हैं। आप सभी को बता दें कि नींबू की कीमतों में बढ़ोतरी देखने के लिए मिल रही है और अब देश के कई हिस्सों में करीब 400 रुपये प्रति किलो के करीब पहुंच गई हैं। केवल यही नहीं बल्कि कई जगह सिर्फ एक नींबू 10 से 15 रुपये में मिल रहा है। ऐसा होने के चलते अब लोग शादी ब्याह में भी नींबू खरीद के उपहार (Wedding Gift) के तौर पर दे रहे हैं। जी दरअसल ऐसा मामला गुजरात (Gujarat) के राजकोट (Rajkot) के धोराजी शहर में हुआ है। यहाँ एक शादी समारोह के दौरान लोगों ने दूल्हे को नींबू भेंट किए। जी दरअसल यहाँ वर और वधू को उनकी जिंदगी के सबसे खास दिन पर नींबू का तोहफा देने वाले शख्स का नाम दिनेश है। दिनेश का कहना है, 'इस समय अपने प्रदेश बल्कि यूं कहें कि पूरे देश में नींबू की कीमतें बहुत बढ़ गई हैं। गर्मी के इस मौसम में नींबू की बहुत जरूरत पड़ती है। इसलिए काफी सोच विचार कर मैंने ये फैसला लिया।' आप सभी को बता दें कि शहर के मोनपारा परिवार के बेटे के विवाह समारोह में दोस्तों ने मिठाई के डिब्बे में पैसे या गहनों की जगह महंगे नींबू का उपहार दिया। जी हाँ और इस दिए गए उपहार का उद्देश्य यह बताना था कि नींबू की कीमत इतनी अधिक हो गई है कि इसे अब महंगे उपहार के रूप में दिया जा सके। आपको यह भी बता दें कि इस खास तोहफे को देखकर शादी में पहुंचे मेहमानों के चेहरे पर मुस्कान आ गई और सभी हँसते हुए नजर आए। फिलहाल यह मामला चर्चाओं का हिस्सा बना हुआ है। IPL 2022: गर्लफ्रेंड ने बोला- 'IPL या मैं', जानिए लड़के ने क्या किया? Video: पटरी पर लेटकर बात कर रही थी महिला, ऊपर से गुजर गई ट्रेन और फिर।।। 14 साल की बेटी के लिए मां-बाप ने लगाई लड़कों की लाइन, जानिए माजरा

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 17 Apr 2022 9:50 am